Saturday, January 6, 2018

अफराज़ुल को श्रधान्जली










"आज दिनाँक 12/12/17 मंगलवार *इन्सानियत वेलफेयर सोसाइटी*
*महानगर अमन कमेटी*
*सर्वधर्म सेवा संगठन* की ओर से कम्पनी बाग़ मुरादाबाद स्थित गांधी प्रतिमा पर एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया, जिसमें राजस्थान के राजसमंद में निर्ममतापूर्वक क़त्ल किये गये अफ़राज़ुल को कैंडल जलाकर श्रद्धांजलि दी गयी एवं 2 मिनट का मौन ऱखकर एक बेगुनाह इंसान की आत्मा की शांति के लियें दुआ की गयी। इस सम्बंध में बताते हुए इंसानियत वेलफेयर सोसाइटी के अध्यक्ष राशिद सैफ़ी ने बताया कि आज की ये श्रद्धांजलि सिर्फ़ एक इंसान अफ़राज़ुल को नहीं, बल्कि पूरी मानवता और इन्सानियत को दी जा रही है, क्योंकि इन्सानियत या मानवता अब हमारे देश, हमारे समाज मे ज़िंदा है ही नहीं, हर दिन राजसमंद के जैसे ना जाने कितने बेगुनाह इंसानों का क़त्ल किया जा रहा है, और एक बेगुनाह इंसान का क़त्ल, पूरी इन्सानियत का क़त्ल करने जैसा है, और जब हमारे समाज मे इन्सानियत मर ही चुकी है तो उसे श्रद्धांजलि तो देनी ही पड़ेगी। उन्होंने चिन्ता व्यक्त करते हुए आगे कहा कि आज हम ना जाने कैसा देश, कैसा समाज बनाने पर तुले हुए हैं, हर तरफ़ नफरत ही नफरत पैर पसारे हुए है, इंसान जानवर होता जा रहा है, और नरभक्षी होकर एक दूसरे का ही शिकार कर रहा है, इन्सानियत और भाईचारा कहीं नज़र नहीं आता। आज हमारे देश हमारे समाज के सभी इंसानों को बेहद गंभीरता से सोचने की ज़रूरत है कि क्या हम अपनी आने वाली नस्लों को ये नफ़रत, ख़ूनरेज़ी, और मारकाट, देकर जायेंगे, या इन्सानियत, भाईचारा, और हमारे देश और समाज की पहचान गंगा-जमुनी तहज़ीब देकर जायेंगे, ये बड़ा कठिन सवाल आज हम सभी इंसानों के सामने मुंह बाये खड़ा है ?? और अगर हमें अपना देश, अपना समाज बचाना है तोह सभी को मिलकर इसका जबाब जल्द से जल्द ढूंढना होगा, अन्यथा इस नफ़रत की आग में हमारा देश, हमारा समाज जल कर राख हो जायेगा, और बाकी रहेगा तो बस धुंआ ही धुंआ।।।
इस अवसर पर तीनों सोसाइटीयों के ये सभी लोग उपस्थित रहे।। राशिद सैफ़ी, मौलाना उमर फ़ारूख़, मो0 नदीम मुक़म्मली, मो0 साजिद, मो0 सरवर, मो0 आरिफ़, रिज़वानुल हक़, मो0 सलीम, मो0 अकरम, सिराज सैफ़ी, आदि उपस्थित रहे।। https://www.facebook.com/rashid.saifi.94651/videos/724770261060464/

0 comments:

Post a Comment