Wednesday, April 25, 2018

इन्सानियत बचाने को रखा उपवास

















"आज दिनाँक 15/04/18 रविवार को कांठ रोड, अकबर के किले के सामने "इन्सानियत वेलफेयर सोसाइटी" के अध्यक्ष राशिद सैफ़ी सोसाइटी के सदस्यों के साथ एक दिवसीय उपवास पर बैठे। समाज के गिरते स्तर, एवं शर्मसार हो रही, व मर रही इन्सानियत को ज़िन्दा रखने की ख़ातिर यह उपवास रखा गया।
इस सम्बंध में विस्तार से बताते हुए सोसाइटी के संस्थापक एवं अध्यक्ष राशिद सैफ़ी ने कहा कि आज हमारे समाज मे जो घृणित एवं शर्मनाक घटनाएं घट रही हैं जैसे (छोटी-छोटी बच्चियों से रेप एवं दरिंदगी, महिलाओं, लड़कियों से बलात्कार एवं शोषण, बेगुनाहों की हत्या, दंगा-फ़साद, तोड़फोड़, जात-पात, ऊँच-नीच का भेदभाव, आदि) इन सभी घृणित एवं शर्मनाक घटनाओं के लिये पूरी तरह हम इंसान ही जिम्मेदार हैं क्योंकि ये सभी शर्मनाक घटनाएं हम इंसान ही कर रहे हैं, कोई जानवर, पशु-पक्षी या पेड़-पौधे नहीं कर रहे। आज हमारे समाज को गंदा करने में हम इंसानों का ही हाथ है। और हम सभी इंसानों को सुधरने की ज़रूरत है चाहें वो सरकारों में बैठे लोग हों या आम इंसान हो। आज इसी सोच और मक़सद को ध्यान में रखते हुए इन्सानियत वेलफेयर सोसाइटी द्वारा ये एक दिवसीय उपवास रखा गया। सोसाइटी के अध्यक्ष सुबह 4 बजे सेहरी खाकर उपवास पर बैठे और शाम 7 बजे उपवास खोला। इस उपवास के ज़रिए किसी सरकार, शासन-प्रशासन से कोई मांग नहीं कि गयी, बल्कि ईश्वर के बनाये हुए सभी इंसानों से मांग की गयी कि *"इन्सानियत को बचा लो", "मानवता को बचा लो"* और मरती हुई इन्सानियत को ज़िन्दा रखने की अपील की गई। इस उपवास में शहर मुरादाबाद की कई अन्य सामाजिक संस्थाओं ने सहयोग एवं समर्थन किया, जिनमें *सर्वधर्म सेवा संगठन, चाइल्ड लाइन (SAARD) IFTM यूनिवर्सिटी, सामाजिक समरसता मंच, गंगा प्रदूषण समिति, बेटी का घर, संस्कृति जान कल्याण समिति, आदि संस्थाएं शामिल रहीं*।
इस अवसर पर इन संस्थाओं के एवं शहर मुरादाबाद के ये सभी सम्मानित लोग मौजूद रहे - राशिद सैफ़ी, कपिल सिंह, अनुज अग्रवाल, संत रामदास, नदीम मुक़म्मली, रिज़वान-उल-हक़, श्रद्धा शर्मा, डॉ अलका शर्मा, डॉ नीलम कुमारी, डॉ मुकेश दिवाकर, नीना उपाध्याय, रिज़वान हुसैन, आसिफ हुसैन, शहज़ाद खां, मो0 शमीम, रवींद्रनाथ भाटिया, जावेद सैफ़ी, नीतू सक्सेना, नसीम मलिक, प्रदीप कश्यप, गौतम सिंह, मनीष सिंह, आशीष यादव, फ़िरोज़, तनवीर फ़ात्मा आदि लोग मौजूद रहे।।

इंसानियत वेलफेयर सोसाइटी का टी बी जागरूकता दिवस





"आज दिनांक 26/03/18 को विश्व क्षय दिवस(टीबी रोग) के अवसर पर जैन मंदिर पोलियो चौक पर टीबी की बीमारी के प्रति समाज को जागरूक एवं टीबी रोग के निदान के लियें आयोजित जागरूकता कार्यक्रम में *इन्सानियत वेलफेयर सोसाइटी* की और से भाग लेते हुए सोसाइटी के अध्यक्ष "राशिद सैफ़ी"।।

इन्सानियत वेलफेयर सोसाइटी का फ्री मेडिकल कार्ड कैम्प











आज दिनाँक 01/04/18 रविवार को *इन्सानियत वेलफेयर सोसाइटी* की ओर से कांठ रोड स्थित हिमगिरि कालोनी में एक *फ्री मेडिकल कार्ड* बनाने का कैम्प आयोजित किया गया। जिसमें सोसाइटी की ओर से ग़रीब, ज़रूरतमंदों, एवं आर्थिक रूप से कमज़ोर लोगों के लियें सस्ते इलाज, एवं फ्री इलाज हेतु निःशुल्क मेडिकल कार्ड बनाये गये। सोसाइटी के इस *फ्री मेडिकल कार्ड* के ज़रिये कार्ड स्वामी अस्पताल में जाकर बिना किसी फ़ीस के डॉ को दिखा सकता है, एवं बेहद सस्ते और कम दामों में एवं निःशुल्क दवाईयां प्राप्त कर सकता है, साथ ही इस कार्ड के द्वारा किसी भी गंभीर बीमारी से पीड़ित व्यक्ति, अथवा अस्पतालों में किसी भी तरह के ऑपरेशन में होने वाला खर्चा भी इन्सानियत वेलफेयर सोसाइटी कम से कम कराने का कार्य इस कार्ड के माध्यम से कर रही है। आज के इस फ्री मेडिकल कैम्पमें कार्ड बनवाने वालों की भारी भीड़ रही और क़रीब 100 लोगों के फ्री मेडिकल कार्डसोसाइटी द्वारा बनाये गये। फ्री मेडिकल कार्ड बनाने का यह कैम्प इन्सानियत वेलफेयर सोसाइटी की ओर से हर माह शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में लगाया जायेगा।
इस अवसर पर सोसाइटी के ये सभी सदस्य मौजूद रहे - राशिद सैफ़ी(अध्यक्ष) कपिल सिंह, विनय विशनोई, शारिक सैफ़ी, फरीद अहमद, गौतम सिंह, अनुज अग्रवाल, गौरव कुमार, पप्पू भाई, मो0 फ़ैज़, मो0 शादान आदि मौजूद रहे।।

इन्सानियत वेलफेयर सोसाइटी का होली मिलन समारोह








"आज दिनांक 03/03/18 को इन्सानियत वेलफेयर सोसाइटी की ओर से हिमगिरि कालोनी में एक "होली मिलन समारोह" का आयोजन किया गया। जिसमें भारी संख्या में शहर के वरिष्ठ समाजसेवी एवं सम्मानित व्यक्ति उपस्थित रहे। कार्यक्रम के बारे बताते हुए सोसाइटी के संस्थापक एवं अध्यक्ष राशिद सैफ़ी ने बताया कि इन्सानियत वेलफेयर सोसाइटी द्वारा समय-समय पर समाज के सभी धर्मों, सभी वर्गों को "जोड़ने" एवं समाज में इन्सानियत स्थापित करने हेतु "सामाजिक कार्यक्रम" आयोजित किये जाते हैं। इसी कड़ी में सोसाइटी हर साल ईद मिलन समारोह, एवं होली मिलन समारोह, आयोजित करती है, जिसका मक़सद समाज में "प्रेम, "सदभाव, और "भाईचारा स्थापित करके इन्सानियत का पैग़ाम देना होता है। इसी उद्देश्य को लेकर आज होली मिलन समारोह का आयोजन किया गया था। कार्यक्रम में सभी वक्ताओं ने सभी धर्मों के त्यौहार प्रेम, सदभाव, एवं भाईचारे से मनाने की अपील की। इस अवसर पर शहर के ये सभी सम्मानित लोग मौजूद रहे। - राशिद सैफ़ी, सरदार गुरविंदर सिंह, चाईल्डलाईन की समन्वयक श्रद्धा शर्मा, रोज़लीन, रवीन्द्रनाथ भाटिया, अनुज अग्रवाल, गौतम सिंह, विनय विशनोई, कपिल सिंह, फरीद अहमद, तनवीर फ़ातिमा, नेपाल सिंह, मो0 यामीन, संजीव लाल, गुफरान इलाही, शारिक सैफ़ी, मो0 फ़ैज़, मो0 शादान, साबिर हुसैन, आदि उपस्थित रहे।

Saturday, January 6, 2018

कुलभूषण की माँ पत्नि से बदसलूकी के ख़िलाफ़ पाकिस्तानी उच्चायुक्त को ज्ञापन




"आज दिनाँक 29/12/17 को *इन्सानियत वेलफेयर सोसाइटी* की तरफ़ से एक ज्ञापन *पाकिस्तानी उच्चायुक्त* महोदय सोहेल महमूद को मुरादाबाद के जिलाधिकारी महोदय के माध्यम से *हिंदी* एवं *उर्दू* दोनों भाषाओं में भेजा गया।
जिसमें मांग की गयी कि पाकिस्तान जेल में बंद कुलभूषण जाधव की माँ एवं पत्नी के साथ जो दुर्व्यवहार एवं बदसलूकी की गयी है उसके लियें पाकिस्तान खेद प्रकट करे, व भविष्य में आगे इस तरह की पुनरावृत्ति ना हो इसका आश्वासन भी दे। इस अवसर पर सोसाइटी के अध्यक्ष राशिद सैफ़ी, के साथ मौलाना उमर फ़ारूक़, तनवीर फ़ातिमा, अंशुल सैनी, ठाकुर ओमकार सिंह, सिराज सैफ़ी, बदलू मास्टर, आदि उपस्थित रहे।।

अफराज़ुल को श्रधान्जली










"आज दिनाँक 12/12/17 मंगलवार *इन्सानियत वेलफेयर सोसाइटी*
*महानगर अमन कमेटी*
*सर्वधर्म सेवा संगठन* की ओर से कम्पनी बाग़ मुरादाबाद स्थित गांधी प्रतिमा पर एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया, जिसमें राजस्थान के राजसमंद में निर्ममतापूर्वक क़त्ल किये गये अफ़राज़ुल को कैंडल जलाकर श्रद्धांजलि दी गयी एवं 2 मिनट का मौन ऱखकर एक बेगुनाह इंसान की आत्मा की शांति के लियें दुआ की गयी। इस सम्बंध में बताते हुए इंसानियत वेलफेयर सोसाइटी के अध्यक्ष राशिद सैफ़ी ने बताया कि आज की ये श्रद्धांजलि सिर्फ़ एक इंसान अफ़राज़ुल को नहीं, बल्कि पूरी मानवता और इन्सानियत को दी जा रही है, क्योंकि इन्सानियत या मानवता अब हमारे देश, हमारे समाज मे ज़िंदा है ही नहीं, हर दिन राजसमंद के जैसे ना जाने कितने बेगुनाह इंसानों का क़त्ल किया जा रहा है, और एक बेगुनाह इंसान का क़त्ल, पूरी इन्सानियत का क़त्ल करने जैसा है, और जब हमारे समाज मे इन्सानियत मर ही चुकी है तो उसे श्रद्धांजलि तो देनी ही पड़ेगी। उन्होंने चिन्ता व्यक्त करते हुए आगे कहा कि आज हम ना जाने कैसा देश, कैसा समाज बनाने पर तुले हुए हैं, हर तरफ़ नफरत ही नफरत पैर पसारे हुए है, इंसान जानवर होता जा रहा है, और नरभक्षी होकर एक दूसरे का ही शिकार कर रहा है, इन्सानियत और भाईचारा कहीं नज़र नहीं आता। आज हमारे देश हमारे समाज के सभी इंसानों को बेहद गंभीरता से सोचने की ज़रूरत है कि क्या हम अपनी आने वाली नस्लों को ये नफ़रत, ख़ूनरेज़ी, और मारकाट, देकर जायेंगे, या इन्सानियत, भाईचारा, और हमारे देश और समाज की पहचान गंगा-जमुनी तहज़ीब देकर जायेंगे, ये बड़ा कठिन सवाल आज हम सभी इंसानों के सामने मुंह बाये खड़ा है ?? और अगर हमें अपना देश, अपना समाज बचाना है तोह सभी को मिलकर इसका जबाब जल्द से जल्द ढूंढना होगा, अन्यथा इस नफ़रत की आग में हमारा देश, हमारा समाज जल कर राख हो जायेगा, और बाकी रहेगा तो बस धुंआ ही धुंआ।।।
इस अवसर पर तीनों सोसाइटीयों के ये सभी लोग उपस्थित रहे।। राशिद सैफ़ी, मौलाना उमर फ़ारूख़, मो0 नदीम मुक़म्मली, मो0 साजिद, मो0 सरवर, मो0 आरिफ़, रिज़वानुल हक़, मो0 सलीम, मो0 अकरम, सिराज सैफ़ी, आदि उपस्थित रहे।। https://www.facebook.com/rashid.saifi.94651/videos/724770261060464/