Friday, June 30, 2017

देश के "गौरव" पर्वतारोही "रवि कुमार" को "मार्मिक श्रद्धांजलि"







"दोस्तों, कहा जाता है कि "आसमान" "छूने" की "तमन्ना" तो हर इंसान को रहती है, मगर उसे छु कोई-कोई ही पाता है, और वही छूता है, जिसके अन्दर "हौसला" हो, कुछ कर गुज़रने की तमन्ना हो, "इतिहास" रचने का "जज़्बा" हो, इसी तरह के कुछ इन्सानों में से एक "महान आत्मा" मुरादाबाद और देश का "गौरव" "पर्वतारोही रवि कुमार" थे, थे इसलियें लिख रहा हूँ क्योंकि आज सारी "उम्मीदों" और "आशाओं" पर विराम लग चुका है, और देश का नाम पूरे "विश्व" में "रौशन" करने वाले देश के गौरव पर्वतारोही रवि कुमार का "शव" आज रात करीब 8 बजे मुरादाबाद पहुँचेगा, रवि कुमार अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया, यूरोप, एशिया, और अब "माउंट एवरेस्ट" सहित दस देशों की चोटियों पर "फ़तह" हासिल करके हमारे देश का "तिरंगा" फ़हरा चुके हैं, और देश का नाम सारे विश्व में रौशन कर चुके हैं, मगर हमारी "बदक़िस्मती" है कि आज रवि कुमार हमारे बीच आ रहे हैं तो मृत अवस्था में, मगर हम ऐसी महान आत्मा को मृत नहीं मानते, रवि कुमार आज भी हमारे दिलों में "ज़िन्दा हैं, व हमेशा रहेंगे, 
रवि तुम्हें सलाम !!!
आज हम इन्सानियत वेलफेयर सोसाइटी की ओर से बेहद "दुःखी" होकर पर्वतारोही रवि कुमार को बेहद "मार्मिक श्रद्धांजलि" दे रहे हैं। ईश्वर आपकी आत्मा को "शांति" दें।। (आमीन)
~~~~~
(राशिद सैफ़ी "आप" मुरादाबाद)
संस्थापक/अध्यक्ष
इन्सानियत वेलफेयर सोसाइटी

0 comments:

Post a Comment