Wednesday, March 29, 2017

महिलाओं के प्रति छेड़छाड़, बलात्कार, शोषण, एवं घरेलू हिंसा के ख़िलाफ़ जागरूकता सभा






"आज दिनांक 28/03/17 को इन्सानियत वेलफेयर की एक मीटिंग हिमगिरि कालोनी स्थित कार्यालय पर सम्पन्न हुई, जिसमे सोसाइटी के सभी सदस्य एवं भारी संख्या में आम लोग उपस्थित रहे। बैठक में समाज में व्याप्त बुराइयों एवं उनके निवारण और उनके प्रति जागरूकता फैलाने के बारे में विस्तार पूर्वक चर्चा हुई, जिसमे सोसाइटी के सदस्यों के अलावा वहाँ मौजूद सभी आम लोगों ने भी अपने विचार रखे, और समाज में फ़ैली बुराइयों के ख़िलाफ़ लोगों में जागरूकता लाने का कार्य करने की शपथ ली। इस सम्बन्ध में बताते हुए सोसाइटी के संस्थापक एवं अध्यक्ष राशिद सैफ़ी ने बताया कि इन्सानियत वेलफेयर सोसाइटी आने वाले दिनों कई एजेंडों पर काम करने को प्रतिज्ञाबद्ध है। जिसके तहत आने वाले समय में सबसे पहले महिलाओं के प्रति छेड़छाड़, बलात्कार, शोषण, एवं घरेलू हिंसा के ख़िलाफ़ लोगों में जागरूकता फैलाने का काम किया जायेगा। उन्होंने बताया कि मुरादाबाद शहर में 23 स्थान चिन्हित किये गए हैं जहाँ पर महिलाओं से छेड़छाड़, शोषण, आदि जैसी घटनायें ज़्यादा घटती हैं, सोसाइटी की ओर से उन सभी स्थानों पर नुक्कड़ सभाएं की जाएँगी एवं लोगों में महिलाओं के प्रति सम्मान और आदर का भाव पैदा करने का काम किया जायेगा। उन्होंने बताया कि सरकारें, और पुलिस, तो महिलाओं के ऊपर हो रहे अत्याचारों के बारे में कानून के तहत अपना काम करते ही हैं, लेकिन हैं पुरुष समाज को भी महिलाओं के प्रति अपनी सोच और मानसिकता बदलने की ज़रूरत है, तभी पूरी तरह से हम महिलाओं को सम्मान दे पायेंगे। और महिलाओं के प्रति हमारा ये सम्मान और आदर इसलियें भी ज़रूरी है क्योंकि महिलाओं के वजूद से ही हमारा वजूद क़ायम है। अगर महिलाएं नहीं तो हम भी नहीं। और इसी उद्देश्य को लेकर इन्सानियत वेलफेयर सोसाइटी आने वाले दिनों में काम करेगी।
इस अवसर पर मुख्य रूप से ये सभी लोग मौजूद रहे-
राशिद सैफ़ी, डॉ इरशाद सैफ़ी, फरीद अहमद, विनय विशनोई, सदाक़त हुसैन, मीना भारद्वाज, हक़ीम राशिद रज़ा, सुशील भटनागर, शमीम अहमद, शारिक सैफ़ी, ज़मीर अहमद, पप्पू भाई, मास्टर यासीन, ताहिर हुसैन, यासीन सैफ़ी, नासिर हुसैन, ज़ाकिर हुसैन, आदि मौजूद रहे।।

Wednesday, March 1, 2017

समाज में फैली सामाजिक बुराइयों, जैसे जुएबाज़ी, सट्टेबाज़ी, शराबबाज़ी, नशेबाज़ी, आदि के ख़िलाफ़ "जागरूकता अभियान सभा"










"आज दिनांक 01/03/2017 को *इन्सानियत वेलफेयर सोसाइटी* द्वारा समाज में फैली सामाजिक बुराइयों, जैसे जुएबाज़ी, सट्टेबाज़ी, शराबबाज़ी, नशेबाज़ी, आदि के ख़िलाफ़ लोगों को जागरूक करने एवं इन सब बाज़ियों से समाज को हो रहे नुक़सान बताने के उद्देश्य से *जागरूकता अभियान* शुरू किया गया। जिसके तहत आज सोसाइटी की तरफ से एक *जागरूकता अभियान सभा* का आयोजन, हिमगिरि कालोनी स्थित गड्डा कालोनी में नोगज़ा शाह ज़ियारत के पास किया गया, जिसमें सोसाइटी के सभी सदस्य मौजूद रहे।

इस सभा के सम्बन्ध में बोलते हुए सोसाइटी के संस्थापक और अध्यक्ष *राशिद सैफ़ी* ने बताया कि आज हमारा समाज जुए, सट्टे, शराब, और नशे, जैसी बुराइयों से बर्बाद हो रहा है, बड़ों के साथ-साथ छोटी-छोटी उम्र के किशोरों में भी ये सब बुराइयाँ फैलती जा रही हैं। और नशे जैसी घातक चीज़ का तो ये आलम है कि अब ये नशे की लत हमारे पढ़ने लिखने वाले बच्चों तक में फैलने लगी है। स्कूलों, कॉलेजों, में भी तमाम अराजक तत्व इस नशे को पहुँचा रहे हैं, ये एक गंभीर एवं चिन्ता का विषय है। आज समाज में फ़ैल रही इन सब बुराइयों और इन बुराइयों के द्वारा समाज को दूषित करने में कहीं ना कहीं हम इंसान ही "प्रत्यक्ष, या "अप्रत्यक्ष, रूप से ज़िम्मेदार हैं। क्योंकि हम में से ही कुछ लोग इन बुराइयों को कर रहे हैं, और हम में से ही कुछ लोग इसे देखकर भी अनदेखा कर रहे हैं। इसलियें इन्सानियत वेलफेयर सोसाइटी जोकि एक सामाजिक संस्था है, और समाज में किसी भी तरह के इन्सानियत के खिलाफ हो रहे काम के ख़िलाफ़ लोगों में जागरूकता फैलाती है, एवं समाज में हो रहे इन्सानियत और भलाई के कामों को लोगों के सामने लाकर, समाज के लोगों की भलाई करने का काम कर रही है। अपने इसी मक़सद और उद्देश्य को लेकर इन्सानियत वेलफेयर सोसाइटी ने आज इस जागरूकता अभियान सभा का आयोजन किया, और लोगों को इन सब बुरी लतों, जुआ, सट्टा, शराब, नशा आदि, के द्वारा होने वाले नुक़सान और इसका बुरा असर हमारी आने वाली नस्लों पर पड़ने के बारे में लोगों को बताया। और इन बुरी लतों को छोड़ने को लोगों को प्रेरित किया। सोसाइटी की ओर से निरंतर इस तरह के अभियान जारी रहेंगे।।
इस जागरूकता अभियान सभा में सोसाइटी के सभी सदस्य, एवं भारी संख्या में ये सभी लोग उपस्थित रहे। - राशिद सैफ़ी, डॉ इरशाद सैफ़ी, फरीद अहमद, विनय विशनोई, हसीब आलम, शारिक सैफ़ी, हसीन अहमद, यामीन सैफ़ी, सदाक़त हुसैन, इदरीस अहमद, डॉ अब्दुल बारी, दूल्हा जान, ख़ुशीराम, सरताज, मो. आरिफ, कमरुल हुसैन, पप्पू भाई, हकीम राशिद, आदि उपस्थित रहे।।